« | Home | »

प्लॉट व फ्लैट की योजना जनवरी में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण लाएगा योजना आशियाने के इंतजार में बीता एक और साल

Comments Off on प्लॉट व फ्लैट की योजना जनवरी में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण लाएगा योजना आशियाने के इंतजार में बीता एक और साल   |   January 1, 2014    11:29am   |Contributed by manoja

•अमर उजाला ब्यूरो
नोएडा। ग्रेटर नोएडा वेस्ट (नोएडा एक्सटेंशन) के फ्लैट खरीदारों का एक और साल अपने आशियाने के इंतजार में निकल गया। विवादों से उबरने के बाद यहां फ्लैटों का निर्माण शुरू तो हो चुका है, लेकिन एकाध को छोड़कर बाकी का पजेशन 2015 से पहले नजर नहीं आ रहा। जबकि लॉन्चिंग के समय फ्लैट की कीमत करीब 1800 रुपये प्रति वर्ग फुट से शुरू हुई थी, जो अब 3500 रुपये प्रति वर्ग मीटर तक पहुंच गई है।
2009 में नोएडा एक्सटेंशन की शुरुआत हुई थी। उस समय फ्लैटों की बुकिंग कराने वालों को 2013 के अंत तक पजेशन देने का भरोसा दिलाया गया था, लेकिन जमीनी विवाद चलते करीब डेढ़ साल तक निर्माण कार्य रुका रहा। मुआवजा और आवासीय भूखंड की मांग को लेकर शुरू हुआ विवाद सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया, जिससे युद्ध स्तर पर चल रहा निर्माण कार्य ठप पड़ गया। कोर्ट के आदेश पर प्राधिकरण और किसानों के बीच सहमति बनी और फिर से निर्माण कार्य शुरू हुआ। 2012 मध्य से फिर नोएडा एक्सटेंशन में निर्माण कार्य ने रफ्तार पकड़ी।
विवाद भले ही डेढ़ साल का रहा हो, लेकिन इसने नोएडा एक्सटेंशन को काफी पीछे धकेल दिया। 2013 तक लोग अपने फ्लैटों में रहने की उम्मीद कर रहे थे, लेकिन अभी लगभग एक साल और इंतजार करना होगा। कुछ बिल्डर तो ऐसे हैं, जो 2015 तक पजेशन दे पाएंगे।
फ्लैट खरीदारों को पजेशन में देरी के अलावा कई और मुद्दों पर झुकना पड़ा।
प्राधिकरण ने एफएआर को 2.75 से बढ़ाकर 3.50 कर दिया गया। एफएआर बढ़ने के बाद अधिक फ्लैट बनाने के चक्कर में फ्लैट खरीदारों को पजेशन पाने के लिए और इंतजार करना पड़ेगा।
खुशखबरी
•अमर उजाला ब्यूरो
ग्रेटर नोएडा। जो लोग ग्रेटर नोएडा में प्लाट लेना चाहते हैं, उनकी यह इच्छा ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण पूरा करने जा रहा है। प्राधिकरण जनवरी में प्लॉटों और फ्लैटों की योजना ला रहा है।
इसमें करीब चार सौ प्लॉट और एक हजार फ्लैट शामिल होंगे।
प्राधिकरण ने काफी समय से रिहायशी प्लॉटों की योजना नहीं निकाली है। अब वह जो योजना जा रहा है, उसमें प्लॉट और फ्लैट किसी एक सेक्टर में नहीं, बल्कि विभिन्न सेक्टरों में होंगे। प्राधिकरण के डीसीईओ मानवेंद्र सिंह ने बताया कि ऐसे बहुत से लोग हैं, जिन्होंने किस्तें जमा नहीं की हैं या फिर किसी अन्य वजह से प्राधिकरण ने उनके प्लॉट या फ्लैट रद्द कर दिए हैं। उसने ऐसे फ्लैट और प्लॉटों की सूची तैयार कर ली है। अब वे ही प्लॉट व फ्लैट आवेदन मांगकर ड्रॉ द्वारा लोगों को दिए जाएंगे। मानवेंद्र सिंह ने बताया कि संभवत: 15 जनवरी तक योजना निकाल दी जाएगी।
ईडब्ल्यूएस फ्लैटों के दाम 60 हजार रुपये होंगे कम
नोएडा। प्राधिकरण ने सेक्टर-73 के निवासियों को राहत देने का निर्णय लिया है। प्रत्येक फ्लैटों की कीमत में 60 हजार रुपये की कमी की जाएगी। सोमवार को ईडब्ल्यूएस आवंटियों ने प्राधिकरण के डीसीईओ अखिलेश सिंह से मुलाकात की। डीसीईओ ने इन आवंटियों को 60 हजार रुपये कम करने का आश्वासन दिया है। 2006-07 की इस योजना के तहत कुल 1235 आवंटियों को फ्लैट मिले हैं। जिस समय योजना निकाली गई थी, उस समय कीमत 2.50 लाख रुपयेथी, मगर आवंटन और निर्माण की मौजूदा दरों के हिसाब से भूतल पर फ्लैट की कीमत में 3.19 लाख, प्रथम तल पर 2.90, द्वितीय तल पर 2.52 और तृतीय तल पर 2.23 लाख रुपये का इजाफा हो गया है।
खुशखबरी
कल होगी लेफ्टआउट फ्लैटों की स्कीम लाॅन्च
नोएडा (ब्यूरो)। लेफ्टआउट फ्लैटों की योजना एक जनवरी को लांच हो रही है। शहर के छह बैंकों में इसके आवेदन पत्र मिलने लगेंगे। आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 जनवरी तय की गई है।
इन फ्लैटों के ड्रॉ की संभावित तिथि 15 फरवरी है।
प्राधिकरण के मुताबिक इस योजना के आवेदन पत्र एक जनवरी से सेक्टर-18 स्थित विजया बैंक, सेक्टर-18 के सोमदत्त टावर स्थित एचडीएफसी बैंक, सेक्टर-6 स्थित केनरा बैंक, सेक्टर 27 स्थित ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, सेक्टर-18 स्थित आईसीआईसीआई बैंक और सेक्टर 16 स्थित ऐक्सिस बैंक से मिलेंगे। आवेदन पत्रों की कीमत 1000 रुपये तय की गई है। एक जनवरी से योजना को लांच करने पर सीईओ की पहले ही अनुमति मिल चुकी है। इसका ब्रोशर भी तैयार हो चुका है। आज यह बैंकों के पास भी पहुंच जाएगा। फ्लैटों की कुल कीमत का लगभग दस फीसदी पंजीकरण राशि के रूप में जमा करना होगा।
खुशखबरी
एफआईआर भी दर्ज
फ्लैटों की बुकिंग और प्रोजेक्ट रद्द करने के बाद किसी और जगह में खरीदारों को शिफ्ट न करने पर नेफोवा व नेफोमा ने बिसरख थाने में मामला भी दर्ज कराया है। हालांकि अभी तक मामले में किसी पर कोई भी कार्रवाई नहीं हुई है। लोग सिर्फ मुंह ताके इंतजार ही कर रहे हैं।
औद्योगिक भूखंडों का ड्रॉ और खिसका
नोएडा (ब्यूरो)। औद्योगिक भूखंडों का ड्रॉ और खिसक सकता है। प्राधिकरण ने चार जनवरी तक ड्रॉ की संभावना जताई थी, मगर सीईओ के शहर से बाहर होने के कारण स्वीकृति नहीं मिल सकी। इसके चलते अब सात या आठ जनवरी तक ड्रॉ होने के आसार हैं।
अगले साल से पजेशन मिलना शुरू हो जाएगा। इंफ्रास्ट्रक्चर पर भी काम चल रहा है। सड़कें पहले से बनी हुई हैं। बिजली व पानी का काम भी प्राधिकरण करवा रहा है। पजेशन के बाद यहां रहने वालों को बिजली-पानी की किल्लत नहीं होगी। मेट्रो का प्रस्ताव भी पहले से बना हुआ है। उस पर भी प्रोसेस चल रहा है।
– अनिल शर्मा, अध्यक्ष, क्रेडाई एनसीआर
•2013 के अंत तक पजेशन देने का भरोसा दिया गया था, 2015 से पहले मिलने की उम्मीद नहीं
शुरुआती दिनों में जितने भी प्रोजेक्ट लॉन्च हुए थे, एक से दो साल में उन पर पजेशन मिलने की बात कही जा रही है। हालांकि कुछ बिल्डर अब भी भुगतान में देरी होने पर फ्लैट का आवंटन रद्द कर रहे हैं। वहीं, कुछ तो सुपर एरिया बढ़ाकर ज्यादा कीमत लेने के लिए नोटिस भेज रहे हैं। इनके खिलाफ एसोसिएशन लगातार आंदोलन करती रहेगी।
– अभिषेक कुमार, अध्यक्ष, नेफोवा

http://epaper.amarujala.com/svww_zoomart.php?Artname=20131231a_004105003&ileft=227&itop=372&zoomRatio=183&AN=20131231a_004105003

News Published Under:   Greater Noida | Comments Off on प्लॉट व फ्लैट की योजना जनवरी में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण लाएगा योजना आशियाने के इंतजार में बीता एक और साल